मेरा सपना आदर्श गांव हो अपना ग्रामसभा बोदना से ग्रामप्रधान पद के शिक्षित प्रत्याशी सुरेन्द्र रावत को अपना बहुमूल्य वोट देकर विजयी बनावें।

आज़मगढ़

नेशनल इन्ट्रीग्रेटेड मेडिकल एसोशियेशन (नीमा) का 73वां स्थापना दिवस धूमधाम से मनाया गया

नेशनल इन्ट्रीग्रेटेड मेडिकल एसोशियेशन (नीमा) का 73वां स्थापना दिवस धूमधाम से मनाया गया

आज़मगढ़: नेशनल इन्ट्रीग्रेटेड मेडिकल एसोशियेशन (नीमा) का 73वां स्थापना दिवस समारोह मंगलवार को कोविड प्रोटोकॉल का पालन रहते हुए मनाया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि आज़मगढ़ मण्डल के पुलिस उप महानिरीक्षक सुभाष चंद्र दूबे रहे। सर्वप्रथम मुख्य अतिथि द्वारा दीप प्रज्वलित करके कार्यक्रम की औपचारिक शुरुआत की गई। इसके बाद नीमा अध्यक्ष डॉ.डी.डी. सिंह, सचिव डॉ. अबु शहमा खान, कोषाध्यक्ष डॉ. वेद प्रकाश सिंह, उपाध्यक्ष डॉ. मनीष राय, वोमेन्स फोरम की अध्यक्षा डॉ. आरती सिंह ने मुख्य अतिथि को पुष्प गुच्छ देकर स्वागत किया।
अपने संबोधन में मुख्य अतिथि डीआईजी सुभाष चंद्र दूबे ने कहा कि चिकित्सक को लोग भगवान का रूप मानते हैं। लोगों को आपातकालीन स्थिति में चिकित्सक की याद आती है। इसलिए प्रत्येक चिकित्सक का कर्तव्य है कि वे मरीजों का इलाज करते समय उच्च आदर्श स्थापित करें। आगे उन्होंने कहा कि वैश्विक महामारी कोरोना में आयुर्वेदिक दवाओं और आयुष काढ़ा ने पूरी दुनिया में अपनी पहचान बनाई है। आयुर्वेदिक और यूनानी चिकित्सकों के राष्ट्र व्यापी संगठन नीमा ने पूरे देश मे कोविड काल में आगे बढ़कर अपना योगदान दिया है, जिसके लिए वे प्रशंसा के पात्र हैं।
नीमा के अध्यक्ष डॉ. डी.डी. सिंह ने सभी चिकित्सकों का स्वागत करते हुए नीमा की स्थापना एवं क्रिया कलापों की विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने कहा कि इसकी स्थापना राष्ट्रीय स्तर पर सम्मान, गरिमा प्राप्त करने और एकीकृत चिकित्सा के हितों को बनाए रखने के लिए तथा एकीकृत चिकित्सा को विकसित करने के लिए दिल्ली में 13 अप्रैल 1948 को की गई थी। आज देश में आयुर्वेद व युनानी पद्धति के 1.5 लाख से ज्यादा चिकित्सक नीमा के सदस्य है। जिले में इसके सदस्यों की संख्या 278 है। नीमा आज़मगढ़ द्वारा इतने कम समय में 241 नए सदस्य बनाए गए। यह हमारे लिए गर्व की बात है।
संस्था के उपाध्यक्ष डॉ. मनीष राय ने कहा कि संस्था समय-समय पर मेडिकल कैंप व अन्य सामाजिक कार्यों को करती रहती है। उन्होंने कहा कि यह गौरव का विषय है कि नीमा आज़मगढ़ ने कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए भी नीमा स्थापना दिवस समारोह को मनाया, जिसमें जिले भर के लगभग चालीस चिकित्सकों ने सहभागिता की।
नीमा वोमेन्स फोरम की अध्यक्षा डॉ. आरती सिंह ने राष्ट्रीय स्तर पर आयुष चिकित्सा को स्थापित करने के लिए नीमा की सराहना की। अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि आइएसएम स्नातक देश के स्वास्थ्य की रीढ़ हैं। यूनिसेफ और डब्लूएचओ द्वारा इस बड़े महाद्वीप की स्वास्थ्य समस्याओं को हल करने के लिए ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में पूरे देश में अभ्यास करने वाले एकीकृत चिकित्सकों की इस लम्बी श्रृंखला की सेवाओं की वकालत की गई है। नीमा हमेशा से ही राष्ट्रीय स्वास्थ्य कार्यक्रमों में सक्रिय रूप से भाग लेती रही है। कन्या भ्रूण हत्या, अंधेपन की रोकथाम, RNTCP के तहत ट्यूबरक्लोसिस के उन्मूलन और नशीली दवाओं की लत के खिलाफ आम नागरिकों को संरक्षित करने के लिए तत्पर रहती है।
कोषाध्यक्ष डा. वेद प्रकाश सिंह ने कहा कि आयुर्वेद एवं योग दोनों एक दूसरे के पूरक है। पंचकर्म द्वारा आसाध्य रोगों को ठीक किया जा सकता है।
सचिव डा. अबु शहमा खान ने वैश्विक महामारी कोरोना के बारे में विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने सोशल डिस्टेनसिंग के बारे में सचेत किया। आमजन को घर पर रहने और मास्क लगाने के लिए भी प्रेरित किया।
नीमा स्थापना दिवस के अवसर पर आज़मगढ़ नीमा के वरिष्ठ सदस्य डॉ. वी.एस. सिंह, डॉ. वी.एन. सिंह, डॉ. पी.एन. मिश्रा और डॉ. तपन विश्वास को डीआईजी सर द्वारा अंगवस्त्रम और प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम के अंत में नीमा परिवार द्वारा मुख्य अतिथि को प्रतीक चिन्ह और अंग वस्त्रं देकर सम्मानित किया गया। पूर्व अध्यक्ष डॉ. वी.एस. सिंह ने उपस्थित सभी चिकित्सकों की सहभागिता के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया। पूरे कार्यक्रम के दौरान कोविड प्रोटोकॉल का पालन किया गया। कार्यक्रम का संचालन डॉ. प्रदीप सरोज ने शानदार ढंग से किया तथा अध्यक्षता डॉ. डी. पी.सिंह ने किया। इस अवसर पर डॉ. आरती सिंह, डॉ. वेद प्रकाश सिंह, डॉ. डी.डी. सिंह, डॉ. मनीष राय, डॉ. अबु शहमा खान, डॉ. संतोष कुमार सिंह, डॉ. सुजय विस्वास, डॉ. श्वेता विश्वास, डॉ. मनीषा मिश्रा, डॉ. अज़ीम अहमद, डॉ. नूर बानो, डॉ. प्रदीप सरोज, डॉ. डी. पी. सिंह, डॉ. जगदीश यादव, डॉ. मनीष चौबे, डॉ. डी.सी. श्रीवास्तव, डॉ. सुमित गुप्ता, डॉ. वी.एन. सिंह, डॉ. पी.एन. मिश्रा, डॉ. तपन विश्वास, डॉ. वी.एस. सिंह, डॉ. सलमान अख्तर, डॉ. रिज़वान कम्बर आदि लोग उपस्थित रहे।

Related posts

जिलाधिकारी एवम उप जिलाधिकारी सदर के रवैया से नाराज वकीलों ने जिलाधिकारी कार्यालय पर किया प्रदर्शन

Virendra Saroj

सपा के पूर्व विधायक ने दी जान से मारने की धमकी, मुकदमा दर्ज

Virendra Saroj

कृषि विभाग आजमगढ द्वारा प्रदेश सरकार के चार वर्ष पूर्ण होने के अवसर पर सरकार द्वारा जनहित मे किये गये कार्य एवं विशेष उपलब्धियो को जन मानस तक पहुचाने के उददेश्य से मिशन किसान कल्याण कार्यक्रम

Virendra Saroj

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More