अत्याचार के खिलाफ कांग्रेस ने निकाला आक्रोश मार्च

अत्याचार के खिलाफ कांग्रेस ने निकाला आक्रोश मार्च

आजमगढ़ जनपद में लगातार हो रही हत्या, लूट व बलात्कार के विरोध में सोमवार को जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष प्रवीण कुमार सिंह के नेतृत्व में सोमवार को आक्रोश मार्च निकाला गया। आक्रोश मार्च सुखदेव पहलवान स्टेडियम से शुरू होकर पहाड़पुर, तकिया, बड़ादेव होते हुए कलेक्ट्रेट स्थित रिक्शा स्टैंड पहुंचा जहां कांग्रेसजनों ने धरना व सभा की। इस दौरान राज्यपाल को संबोधित छह सूत्रीय ज्ञापन जिलाधिकारी को सौंपा गया। साथ ही घटनाओं पर रोक न लगने पर बड़े आंदोलन की चेतावनी दी गई।
आक्रोश मार्च में कांग्रेस कमेटी के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू व महासिचव विश्वविजय सिंह तथा सचिव शाहनवाज आलम भी शमिल रहे। इस दौरान प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि उत्तर प्रदेश में जंगलराज है। बहन-बेटियां सुरक्षित नहीं हैं। सर्वोच्च न्यायालय की टिप्पणी के बावजूद भाजपा सरकार व उनके नेता अपनी पीठ थपथपा रहे हैं। यहां बहन-बेटियों की आबरू लूटकर आरोपी जिन्दा जला दे रहे हैं, फिर भी मुख्यमंत्री अपनी पीठ थपथपा रहे हैं। महासिचव ने कहा कि भाजपा सरकार सभी मोर्चे पर फेल है। प्रदेश की कानून व्यवस्था समाप्त हो गई है। जिलाध्यक्ष ने कहा कि जनपद में लगातार अपराध बढ़ रहे हैं। महिलाओं पर बढ़ रहे अत्याचारों के खिलाफ कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी अपना जन्म दिन नहीं मनाएंगी। उन्होंने संकल्प लिया है कि महिलाओं के ऊपर हो रहे अत्याचार के खिलाफ संघर्ष करती रहेंगी। इस मौके पर साहिल उपाध्याय समाजसेवी , दिनेश सरोज प्रधान , राजेन्द्र सरोज, विशाल उपाध्याय, मनीष यादव, सुरेन्द्र शर्मा, मोहम्मद बल्ली खान,गया विश्वकर्मा, राम अधार, पदम सरोज, सुनील सरोज,, मुन्नर सरोज पूर्व प्रधान, लालसा राय, आशुतोष द्विवेदी, चंद्रपाल यादव, मुन्नू यादव, सुरेंद्र सिंह, ओंकार पांडेय, रामअवध यादव, पूर्णमासी प्रजापति, दिनेश यादव, रविकांत त्रिपाठी, पुनीत राय, जगदंबिका चतुर्वेदी, ओमप्रकाश राय, अभिषेक सिंह, पुनीत राय, मिलिन्द बौद्ध, ओम प्रकाश, राम लाल सरोज, संजय सरोज, राजेन्द्र पासी , रामप्रवेश, शैलेन्द्र, शिवबचन, राहुल , लक्ष्मण, श्याम चरन राजेन्द्र राम अंशू राय, शीला भारतीय, शान्ती देवी, सरिता देवी, ममता गौड़, रीता गौड़ पूनम देवी, शसिकला देवी, बसन्ती देवी, विमला देवी, लाली देवी, कमली देवी, तारा देवी , सीमा देवी आदि रहे।