छुट्टा जानवरो का आतंक,खेतो में लगी लहलहाती फसलो को कर रहे बर्बाद,किसान बेबस छुट्टा जानवरो का आतंक से परेशान ग्रामीणों ने किया लोकसभा चुनाव का बहिष्कार

छुट्टा जानवरो का आतंक,खेतो में लगी लहलहाती फसलो को कर रहे बर्बाद,किसान बेबस छुट्टा जानवरो का आतंक से परेशान ग्रामीणों ने किया लोकसभा चुनाव का बहिष्कार

अंकित सक्सेना के साथ फतेह खान की रिपोर्ट

(अयोध्या) रुदौली
आवारा पशुओं से किसानों के फसलों की सुरक्षा को लेकर सरकार चाहे जो दावे करे लेकिन रूदौली क्षेत्र के दर्जनों गांवो में इसकी हकीकत कुछ और ही है।लोकसभा चुनाव की आहट होते ही सरकार ने आवारा पशुओं को पकड़कर गौशालाओं में भेजना शुरू किया लेकिन वहां भी क्षमता कम होने से मामला ठन्डे बस्ते में चला गया लेकिन जो जानवर बच गए वो किसानों के लिए मुसीबत का सबब बने हुए है।बार बार शिकायत के बावजूद समस्या का हल न होने पर ग्रामीणों ने लोकसभा चुनाव के बहिष्कार का फैसला लिया है।
रुदौली तहसील क्षेत्र के बाढ़ प्रभावित गांव उधरौरा,देवीगंज,संडरी,पसैया,जमदरा व् बरई आदि ग्रामीणों का कहना है कि आवारा पशुओं की संख्या अधिक हो जाने से फसलों की रखवाली कर पाना मुश्किल होता जा रहा है।कई किसानों की गेहूं की फसल इन आवारा पशुओं द्वारा साफ़ की जा चुकी है।ग्रामीणों का कहना है कि जब तक इन पशुओ को गौशाला में नहीं भेजा जाता तब तक धान की बुवाई भी नहीं की जायेगी।खाद पानी देकर किसी तरह फसलो की बुवाई की जाती है लेकिन छुट्टा जानवरो के कारण सब बेकार हो जाता है।उधरौरा निवासी अशोक कुमार ने बताया कि पिछले एक वर्ष से आवारा पशुओं की संख्या में काफी इजाफा हुआ है जिसके कारण गेंहू व् धान की फसलों को काफी नुकसान होता है।समस्या के समाधान के लिए तहसील प्रसासन से लेकर मुख्यमंत्री पोर्टल तक शिकायत की गई लेकिन प्रसासन द्वारा कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। राम सिंह,सन्तोष कुमार,अनुज कुमार सिंह,शिव सहाय सिंह,अजय प्रताप सिंह,जगदीश ,मनीष सिंहआदि ग्रामीणों का कहना है आवारा पशुओं से हमारी फसलों को काफी नुकसान हो रहा है रात रात भर जागकर फसलों की रखवाली करनी पड़ती है।सरकार की तरफ से जल्द से जल्द कोई व्यस्था नहीं कराई गई तो हम सभी ग्रामीणों के साथ ही पूरा गांव लोकसभा चुनाव का बहिष्कार करेगा।
*खंड विकास अधिकारी रुदौली
*नागेंद्र मोहन त्रिपाठी* ने बताया आवारा पशुओं को लेकर प्रसासन गंभीर है जहाँ जानकारी मिलती है वहां जानवरो को पकड़वाकर गौशालाओं में भेजा जाता है साथ ही आवारा पशुओं की नसबंदी भी कराई जा रही है।ये झुण्ड में आकर किसानो के खेतो में लगी लहलहाती फसलो को खाकर और अपने पैरो तले रौंदकर बर्बाद कर रहे है और किसान चाहकर भी इनका कुछ भी नही कर पा रहे है।
शासन प्रशासन भी इन किसानो की समस्या पर गौर नही कर रहा है जिस वजह क्षेत्रीय किसानो में रोष व्याप्त है।
यहाँ के स्थानीय किसान बदहाली के आंसू रो रहे है किन्तु इनकी फिकर किसी को नही है।
फसलों की हालत देख किसान सदमे में हैं, पर जिम्मेदार बेखबर हैं। इन परेशान किसानो के लिए कोई कड़ा प्रबन्ध क्यू नही हो रहा है आजकल छुट्टा जानवर के आतंक से हर किसान परेशान है। क्षेत्र के विभिन्न ग्रामो में लगे फसलों को छुट्टा जानवरो ने नष्ट करना शुरू कर दिया है
उक्त मौके पर पत्रकार साथी अंकित सक्सेना मोहम्मद सुभान फतेह खान भी मौजूद थे।

Spread Your Love

374 Comments


  1. Great beat ! I would like to apprentice even as you amend your site, how can i subscribe for a weblog website? The account helped me a appropriate deal. I have been a little bit acquainted of this your broadcast provided vibrant clear idea


  2. That is the suitable weblog for anyone who desires to search out out about this topic. You notice so much its nearly laborious to argue with you (not that I truly would want…HaHa). You definitely put a new spin on a subject thats been written about for years. Nice stuff, simply great!



























  3. What’s Taking place i am new to this, I stumbled upon this I’ve discovered It absolutely useful
    and it has aided me out loads. I hope to give a contribution & assist different
    customers like its aided me. Good job.

Leave a Reply

Your email address will not be published.