दीन दुखियों की सेवा ही भगवान की सेवा संगठित शक्ति में ही बल है* सुन्दर सदन सुखद सब काला तहाँ वास लै दीन भुवाला। भाजपा विधायक रामचंद्र यादव ने रामकथा का श्रवण आरती कर पूज्य श्री का लिया आशीर्वाद

दीन दुखियों की सेवा ही भगवान की सेवा संगठित शक्ति में ही बल है* सुन्दर सदन सुखद सब काला तहाँ वास लै दीन भुवाला। भाजपा विधायक रामचंद्र यादव ने रामकथा का श्रवण आरती कर पूज्य श्री का लिया आशीर्वाद

(अयोध्या)जब गुरु विश्वामित्र ने सम्पूर्ण उत्तर भारत को दुष्ट जनो से श्रीराम द्वारा मुक्त करा लिया एवं सभी ऋषि वैज्ञानिकों के यज्ञ सुचारू रुप से होने लगे तो विश्वामित्र श्रीराम को जनकपुर की ओर ले गए जहाँ पर सीता स्वयंवर चल रहा था।सीता स्वयंवर में जब कोई राजा धनुष को तोड़ नहीं पा रहा था तो श्री राम ने गुरु विश्वामित्र की आज्ञा से धनुष को तोड़ दिया जिसका अर्थ पूरे विश्व में दुष्टों को सावधान करना था अब चाहे कितना भी शक्तिशाली राक्षस वृत्ति का व्यक्ति हो वह जीवित् नहीं बचेगा।
गायत्री परिवार रुदौली द्वारा आयोजित संगीत मयी श्रीराम कथा के सप्तम दिवस परमपूज्य संत अतु कृष्ण भरद्वाज ने सीता राम के विवाह के प्रसंग का रसास्वादन कराते हुए कहा कि धनुष टूटने का पता चलने पर परसुराम का स्वयंवर सभा में आना एवं श्रीराम लक्ष्मण से तर्क वितर्क करके संतुष्ट होना कि श्री राम पूरे विश्व का कल्याण करने में सक्षम हैं।
कथा व्यास ने आगे कहा कि भगवान कण कण में व्याप्त हैं।अगर हम समाज में दीन दुखियों वनवासियों आदिवासियों के कष्ट दूर करते हुए पुनः संगठित किया एवं उस संगठित शक्ति के द्वारा ही समाज में व्याप्त बुराइयों को दूर किया जिस कारण श्रीराम भगवान कहलाए।उसी प्रकार आज भी समाज में व्याप्त बुराइयों को अच्छे लोग संगठित होकर ही दूर कर सकते हैं।कथा प्रसंग को आगे बढ़ाते हुए व्यास जी ने कहा राजा जनक ने राजा दशरथ को बारात लाने का न्यौता भेजा फिर राजा दशरथ नाचते गाते बारातियों सहित जनकपुर पहूँच।बारात में शामिल उपस्थित श्रोता जनसमूह खूब नाचा।
पूज्य अतुल कृष्ण भरद्वाज जी ने श्रोताओं से आग्रह पूर्वक निवेदन किया कि जिस संगठित शक्ति के बल पर वनवासी गिरिवासी बंधुओं ने आपत्ति काल में श्रीहनुमान जी महाराज के नेतृत्व में धर्म की स्थापना और अधर्म के विनाश के लिए कार्य किया,उसी प्रकार समस्त प्रकार के भेद भाव से रहित होकर हम सबको जीवन में कुछ महान कार्य करने की ललक पैदा करनी चाहिए। जिससे आप समाज में भेदभाव,ऊँचनीच,छुआछूत दूर हो सके।
गायत्री परिवार रुदौली द्वारा आयोजित गायत्री महायज्ञ में आज सप्तम दिवस पांच पालियों में श्रद्धालुओं ने हवन किया।कार्यक्रम को सम्पन्न कराने में प्रमुख रूप से सुरेश यज्ञसैनी,मृदुल मनोहर अग्रवाल,गणेश अग्रवाल,गोपीनाथ कसौधन,राजेश बंसल,कृष्ण कुमार कौशल, शैलेन्द्र श्रीवास्तव,राजेश सोनी,सूरज पाँडे,दुर्गेश चन्द्र श्रीवास्तव,नानक चौरसिया, नारायण यज्ञसैनी,कमलेश मिश्रा एडवोकेट,राजेन्द्र प्रसाद मिश्रा का सराहनीय योगदान है।
इस अवसर पर रूदौली विधानसभा क्षेत्र के विधायक रामचंद्र यादव,अवधेश श्री वास्तव,समाज सेवी डॉक्टर निहाल राज़,विश्वनाथ तिवारी,मनीष वैश्य,अजय गुप्ता,अजय सिंह,अशोक कसौधन,अरविंद सिंह,राजकिशोर सिंह, रामदेव वैश्य,कमलेश मिश्रा,सतीश चन्द तिवारी,शचीन्द्र प्रकाश शास्त्री,कुलदीप सोनकर, सचिन कसौधन,सोना कनौजिया,प्रेमहारि आर्य, सुबोध मिश्रा,रामप्रकाश कसौधन,रामजी अग्रवाल सहित सैकड़ों लोग मौजूद रहे।

Spread Your Love

Leave a Reply

Your email address will not be published.