Saturday, May 28, 2022
Google search engine
Homeक्राइमकर्नाटक परिवार की आत्महत्या की जांच से चला पता, मां ने ली...

कर्नाटक परिवार की आत्महत्या की जांच से चला पता, मां ने ली थी बच्चे की जान – Karnataka family suicide investigation revealed that the mother had taken the child's life

- Advertisement -
- Advertisement -

कर्नाटक परिवार की आत्महत्या की जांच से चला पता, मां ने ली थी बच्चे की जान

डिजिटल डेस्क, बेंगलुरु। कर्नाटक के बेंगलुरु में परिवार आत्महत्या मामले में पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बच्चें की मौत को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है। पुलिस सूत्रों ने गुरुवार को कहा कि बेंगलुरु में 9 महीने के बच्चे सहित परिवार के पांच सदस्यों की मौत की पोस्टमार्टम रिपोर्ट से पता चला है कि बच्चे की दम घुटने से मौत हुई थी।

रिपोर्ट में कहा गया है कि मां सिंधुरानी ने फांसी लगाने से पहले बच्चे की हत्या कर दी थी। रिपोर्ट में कहा गया है कि बच्चे का कपड़े के टुकड़े से गला घोंटा गया था। रिपोर्ट आने पहले आशंका थी की बच्चा भूख के कारण मर गया होगा।

17 सितंबर को एक परविार की सामूहिक आत्महत्या ने सभी के रोंगटे खड़े कर दिए थे। पत्रकार शंकर की पत्नी, उनकी दो बेटियां और बेटा कर्नाटक की राजधानी के तिगलरापाल्या में उनके आवास पर मृत पाए गए। बच्चे को छोड़कर सभी फांसी के फंदे पर लटके मिले थे। शव क्षत-विक्षत अवस्था में बरामद किए गए थे। शंकर का ढाई साल का पोता पांच दिनों तक पांच शवों के साथ रहा, जिसके बाद उसे बचाया गया था और अस्पताल में भर्ती कराया गया।

बाद में, पुलिस ने आवास से मौत के नोट बरामद किए, जिसमें परिवार के सभी सदस्यों ने आरोप लगाया कि उनके पिता शंकर की लापरवाही, विवाहेतर संबंध और दुर्व्यवहार उनकी मौत का कारण है। पुलिस ने मौके से तीन लैपटॉप, दो आईपोड और मोबाइल बरामद किए हैं और वे मामले के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए डेटा प्राप्त कर रहे है। ब्यादरहल्ली पुलिस शंकर और उसके दो दामादों से पूछताछ कर रही है।

शंकर ने दावा किया कि उनकी पत्नी और दो बेटियों ने शांतिपूर्ण जीवन जीने के लिए उनकी सलाह नहीं मानी और उनके साथ लड़ाई की थी। हालाँकि, मौत के नोटों ने उसकी यातना की एक अलग कहानी बताई। बेटियों ने कहा कि उन्हें कहीं नहीं जाना था, उन्हें उनके पतियों द्वारा परेशान किया गया था और उनके पिता ने उनका समर्थन नहीं किया था। मामले की जांच चल रही है।

आईएएनएस

खबरें और भी हैं…

Source

- Advertisement -
RELATED ARTICLES

Most Popular