दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट में वकीलों पर हुए लाठीचार्ज व मुकदमा दर्ज करने के विरोध में वकीलों ने की नारेबाजी

दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट में वकीलों पर हुए लाठीचार्ज व मुकदमा दर्ज करने के विरोध में वकीलों ने की नारेबाजी

 

दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट में वकीलों पर हुए लाठीचार्ज व मुकदमा दर्ज करने के विरोध में वकीलों ने की नारेबाजी

आजमगढ़  / निजामाबाद तहसील के वकील शुक्रवार को आंदोलित रहे। अधिवक्ताओं ने बार काउंसिल अध्यक्ष पन्नालाल यादव एडवोकेट के नेतृत्व में राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन एसडीएम प्रियंका प्रियदर्शिनी को सौंपा। इस दौरान जमकर सरकार विरोधी नारे लगाए, साथ ही मांग पूरी न होने पर आंदोलन की चेतावनी दी।
इस दौरान बार काउंसिल के अध्यक्ष पन्नालाल यादव ने कहा कि दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट में अधिवक्ताओं के साथ दिल्ली पुलिस का दु‌र्व्यवहार अत्यंत निदनीय है। साथ ही कानपुर में प्रदर्शन कर रहे अधिवक्ताओं पर लाठीचार्ज एवं 150 अधिवक्ताओं पर एफआइआर दर्ज किया जाना अमानवीय है। दोषी पुलिसकर्मियों के विरुद्ध तत्काल कार्रवाई किया जाए। घायल अधिवक्ता को मुआवजा दिया जाए। इस अवसर पर एडवोकेट मोहन, मनोज राय, जितेंद्र राय, कालीचरण राय व महेंद्र पांडेय आदि थे।

Spread Your Love