रानी की सराय बाज़ार का ऐतिहासिक दुर्गा पूजा मेला गुरुवार को लगेगा। पूजा कमेटियों द्वारा  तैय्यारी पूरी

रानी की सराय बाज़ार का ऐतिहासिक दुर्गा पूजा मेला गुरुवार को लगेगा। पूजा कमेटियों द्वारा  तैय्यारी  पूरी

 

रानी की सराय बाज़ार का ऐतिहासिक दुर्गा पूजा मेला गुरुवार को लगेगा। पूजा कमेटियों द्वारा  तैय्यारी  पूरी

 

आजमगढ़ जिले में रानी की सराय बाज़ार का ऐतिहासिक दुर्गा पूजा मेला गुरुवार को लगेगा। पूजा कमेटियों ने तैय्यारी  पूरी कर ली है। एक दर्जन पूजा कमेटियों द्वारा दुर्गा प्रतिमाओं के पट खोल दिए जाने से देवी मां के दर्शन के लिए भक्तों की भीड़ एक दिन पहले ही उमड़ पड़ी। पूरे कस्बे को विद्युत झालरों जगमग किया गया है। मेले में भीड़ को देखते हुए रूट डायवर्ट कर दिया गया है।
पूर्वांचल में ग्रामीण क्षेत्रों के मेले में यहां के मेले का विशिष्ट स्थान है। दूर-दराज की दुकानें एक दिन पूर्व ही लग जाती हैं। जगह सुरक्षित करने की भी होड़ लगी रहती है। मेले में हस्तकला से निर्मित वस्तुओं की भी बिक्री खूब रहती है। इस बार भी कस्बे में भारतीय युवक संघ, नव युवक मंगल दल, आजाद दल, नव युवक संघ, तरुण दल व सम्राट दल सहित कुल एक दर्जन पूजा कमेटियों द्वारा प्रतिमा स्थापित की गई है। एक-दूसरे से आगे निकलने की होड़ में कोई भी पूजा कमेटी कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती। सजावट भी ऐसी कि शाम होते ही आकर्षक विद्युत झालरों की झिलमिलाहट से पूरा कस्बा नहा उठा। पश्चिम बंगाल के कलाकारों ने भी प्रतिमा को आकर्षक बनाने में कोई कमी नहीं छोड़ी है।

वाहनों के लिए बदला रास्ता

रानी की सराय : वाराणसी मुख्य मार्ग पर लगने वाले मेले के कारण बुधवार को ही रूट डायर्वजन किया गया है। रानी की सराय थाना प्रभारी केशव द्विवेदी ने बताया कि वाराणसी और इलाहाबाद से आने वाले वाहन मोहम्मदपुर से फरिहां होते हुए एवं जिला मुख्यालय से मेंहनगर होते हुए बड़े वाहन निकलेंगे, क्योंकि बुधवार की दोपहर से मेले की भीड़ तीसरे दिन भोर तक चलेगी। मुख्य मार्ग पर ही सजावट बल्ली के चलते जाम से भी लोग परेशान हैं।

Spread Your Love