अमेरिका के राष्ट्रपति ने देश के आगामी राष्ट्रपति चुनाव में डेमोक्रेट प्रत्याशियों के समर्थक यहूदियों को विश्वासघाती बताया

अमेरिका के राष्ट्रपति ने देश के आगामी राष्ट्रपति चुनाव में डेमोक्रेट प्रत्याशियों के समर्थक यहूदियों को विश्वासघाती बताया

अमरीका के राष्ट्रपति ने देश के आगामी राष्ट्रपति चुनाव में डेमोक्रेट प्रत्याशियों के समर्थक यहूदियों को विश्वासघाती बताया है।
डोनल्ड ट्रम्प ने वाइट हाउस में पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि जो अमरीकी यहूदी, डेमोक्रेट्स के प्रत्याशियों को वोट देगा उसे या तो नादान माना जाएगा या फिर बड़ा विश्वासघाती समझा जाएगा। ट्रम्प के इस बयान पर तुरंत ही यहूदी संस्थाओं की ओर से कड़ी आपत्तियां सामने आईं और उन्होंने अमरीकी राष्ट्रपति के बयान को यहूदी विरोधी बताते हुए उसकी कड़ी आलोचना की।
 
अमरीकी यहूदियों की डेमोक्रेटिक परिषद के प्रमुख हेली स्वीफ़र ने ट्रम्प के इस बयान को यहूदियों पर हुए अत्याचारों के राजनीतिकरण की ट्रम्प की कोशिश क़रार दिया। जी स्ट्रीट नामक इस्राईल समर्थक गुट के सदस्य लोगन बायरोफ़ ने कहा कि अमरीका के यहूदी समाज के बहुसंख्यकों पर ट्रम्प का हमला बहुत ख़तरनाक व शर्मनाक है। इस्राईल समर्थक एक अन्य गुट के सदस्य मार्क मेलमन ने भी ट्रम्प के बयान को हालिया बरसों में यहूदियों के ख़िलाफ़ दिया गया सबसे ख़तरनाक व विध्वंसक बयान बताया है।
 
ट्रम्प ने इससे पहले, तेल अवीव से अपने संबंधों पर पुनर्विचार करने की डेमोक्रेट सांसद इलहान उमर की मांग को अस्वीकार्य बताते हुए कहा था कि इस प्रकार की बातें इस्राईल के लिए त्रासदीपूर्ण हैं। उन्होंने कहा कि वे इस्राईल की आर्थिक सहायता बंद नहीं करेंगे और उन्हें तो इस बात पर ही विश्वास नहीं हो रहा है कि इस बारे में बहस भी की जा सकती है। (HN)

Spread Your Love