वाराणसी

हड़ताली रेजीडेंट डाक्टर आईसीयू के बाद इमरजेंसी ड्यूटी से भी अलग हुए, संकट बढ़ा

हड़ताली रेजीडेंट डाक्टर आईसीयू के बाद इमरजेंसी ड्यूटी से भी अलग हुए, संकट बढ़ा बीएचयू के हड़ताली रेजीडेंट डॉक्टरों ने रविवार से खुद को इमरजेंसी सेवा से भी अलग कर लिया। इसके बाद इमरजेंसी में नए मरीजों की भर्ती बंद कर दी गयी। शनिवार को आईसीयू से भी डॉक्टर हट गये। हड़ताल के कारण पिछले छह दिनों से ओपीडी एक तरह से ठप पड़ी है। इस दौरान विश्वविद्यालय और अस्पताल

गंगा महोत्सव के साथ शुरू हुआ शिल्प मेला, 18 राज्यों से पहुंचे शिल्पी

गंगा महोत्सव के साथ शुरू हुआ शिल्प मेला, 18 राज्यों से पहुंचे शिल्पी वाराणसी में  राजघाट पर गंगा महोत्सव की शुरुआत के साथ ही चौकाघाट स्थित सांस्कृतिक संकुल में गांधी शिल्प बाजार शनिवार से शुरू हो गया। दस दिन तक चलने वाले इस बाजार का उद्घाटन राज्य मंत्री डॉ. नीलकंठ तिवारी ने किया।  बाजार में 18 राज्यों के शिल्पियों ने 375 स्टॉल लगाए हैं। इनमें पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, बिहार, झारखंड,

आईआईटी बीएचयू में बोले HRD मंत्री पोखरियाल, नए भारत का आधार बनेगी नई शिक्षा नीति

आईआईटी बीएचयू में बोले HRD मंत्री पोखरियाल, नए भारत का आधार बनेगी नई शिक्षा नीति मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा है कि नई शिक्षा नीति नए भारत का आधार बनेगी। शोध और अनुसंधान के क्षेत्र में देश को शिखर पर ले जाएगी। यह भारत केंद्रित और परिणाम आधारित होगी। आईआईटी बीएचयू के आठवें दीक्षांत समारोह में शुक्रवार को निशंक ने कहा कि इस नीति में अंतराराष्ट्रीय

खड़े ट्रक में घुसी तेज रफ्तार इनोवा,  दो की मौत

खड़े ट्रक में घुसी तेज रफ्तार इनोवा,  दो की मौत वाराणसी में गुरुवार की सुबह मिर्जामुराद के मेहंदीगंज के पास नेशनल हाइवे के किनारे खड़े ट्रक में एक तेज रफ्तार इनोवा घुस गई। हादसे में इनोवा के परखच्चे उड़ गए। गाड़ी में सवार  दो की मौत हो गई और तीन लोग घायल हो गए। आसपास के लोगों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने घायलों को बीएचयू के ट्रामा सेंटर भेजा।

कब्र खोदकर दफन किये गए पांच टन से ज्यादा पटाखे, जानिये क्या है पूरा मामला

कब्र खोदकर दफन किये गए पांच टन से ज्यादा पटाखे, जानिये क्या है पूरा मामला वाराणसी के गंगा पार यानी रामनगर में मंगलवार की दोपहर गड्ढे खोदकर पांच टन से ज्यादा पटाखे उसमें दफन कर दिये गए। जेसीबी की मदद से पहले तीन बड़े-बड़े गड्ढे खोदे गए। इसके बाद इनमें पटाखे डाले गये। फिर गड्ढों को पानी से भरने के बाद ऊपर से मिट्टी डाल दी गई। लाखों के पटाखों

ओम सर्जिकल सेंटर द्वारा बड़े ही धूमधाम से मनाया गया राष्ट्र पिता महात्मा गांधी जी का जन्म दिन

ओम सर्जिकल सेंटर द्वारा बड़े ही धूमधाम से मनाया गया राष्ट्र पिता महात्मा गांधी जी का जन्म दिन वाराणसी/ पहाड़ियाँ मे स्थित ओम सर्जिकल सेंटर मे आज दिनांक 2/10/2019 ओम सर्जिकल सेंटर के निदेशक डाक्टर पंकज श्रीवास्तव द्वारा बड़े ही धूमधाम से राष्ट्र पिता महात्मा गांधी जयंती एवं पूर्व पी एम लाल बहादुर शास्त्री की जयंती बड़े ही धूमधाम से मनायी गयी राष्ट्र पिता महात्मा गांधी एवं पूर्व पी एम

गनेशा योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा केंद्र द्वारा बड़े ही धूमधाम से मनाया गया राष्ट्र पिता महात्मा गांधी जी का जन्म दिन

गनेशा योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा केंद्र द्वारा बड़े ही धूमधाम से मनाया गया राष्ट्र पिता महात्मा गांधी जी का जन्म दिन वाराणसी/ गनेशा योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा केन्द्र पाण्डेयपुर रोड़ आशा पुर चौराहा के पास आज दिनांक 2/10/2019 गनेशा योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा केंद्र की संस्थापक पुष्पा सिंह द्वारा बड़े ही धूमधाम से राष्ट्र पिता महात्मा गांधी जयंती एवं पूर्व पी एम लाल बहादुर शास्त्री की जयंती बड़े ही धूमधाम से

ओम सर्जिकल सेंटर द्वारा नि:शुल्क चिकित्सा शिविर का आयोजन

ओम सर्जिकल सेंटर द्वारा नि:शुल्क चिकित्सा शिविर का आयोजन वाराणसी / पहाड़ियाँ मे स्थापित ओम सर्जिकल सेंटर के सुप्रसिद्ध डा.पंकज श्रीवास्तव और उनकी टीम के द्वारा ओम सर्जिकल सेंटर में निःशुल्क चिकित्सा शिविर का आयोजन किया गया, जिसमें 10 वर्ष से 50 वर्ष तक के सैकड़ों मरीजों की स्वास्थ्य जाँच कर निःशुल्क दवा वितरण भी किया गया। इस शिविर में आसपास के दर्जनों गांव के मरीज की चिकित्सा की गयी,

ओम सर्जिकल सेंटर  मे बाँझपन की समस्या का समाधान सम्भव

ओम सर्जिकल सेंटर  मे बाँझपन की समस्या का समाधान सम्भव वाराणसी/ ओम सर्जिकल सेंटर  पहाड़ियाँ मे संचालित ओम आई वी एफ की महिला रोग विशेषज्ञ डा. शालनी श्रीवास्तव ने बताया की ढलती उम्र मे भी मा बनना सम्भव है बस जरूरत है समय पर सही इलाज की महिला रोग विशेषज्ञ डा.शालनी श्रीवास्तव ने बताया की आई वी एफ बाँझपन का सटीक व कारगर इलाज है ओम सर्जिकल सेंटर  मे अन्तर

तीन साल बाद काशी में गंगा ने पार किया खतरे का निशान

तीन साल बाद काशी में गंगा ने पार किया खतरे का निशान वाराणसी में बुधवार की दोपहर गंगा ने खतरे के निशान को भी पार लिया। शाम पांच बजे गंगा खतरे के निशान से 6 सेंटीमीटर ऊपर 71.32 पर बह रही हैं। अब भी बढ़ाव जारी है और अगले 24 घंटे तक बढ़ाव जारी रहने की आशंका जताई गई है। ऐसे में निचले इलाकों और तटवर्ती कालोनियों में खलबली मची