देश विदेश

गोरखपुर: अरुण जेटली के निधन पर भटहट के कार्यकर्ताओं ने दी श्रद्धांजलि

  भटहट गोरखपुर भटहट स्थित अटल बिहारी वाजपेयी स्मृति भवन के परिसर में रविवार को कार्यकर्ताओं ने पूर्व वित्तमंत्री अरुण जेटली व मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर केअसामयिक निधन पर शोक सभा का आयोजन किया उनकी आत्मा की शांति के लिए दो मिनट का मौन रखा और उनके चित्र पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धासुमन अर्पित किए शोक सभा मे उपस्थित भटहट मण्डल के भाजपा अध्यक्ष धर्मेन्द्र कुमार मिश्र व

अमेरिका के राष्ट्रपति ने देश के आगामी राष्ट्रपति चुनाव में डेमोक्रेट प्रत्याशियों के समर्थक यहूदियों को विश्वासघाती बताया

अमरीका के राष्ट्रपति ने देश के आगामी राष्ट्रपति चुनाव में डेमोक्रेट प्रत्याशियों के समर्थक यहूदियों को विश्वासघाती बताया है। डोनल्ड ट्रम्प ने वाइट हाउस में पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि जो अमरीकी यहूदी, डेमोक्रेट्स के प्रत्याशियों को वोट देगा उसे या तो नादान माना जाएगा या फिर बड़ा विश्वासघाती समझा जाएगा। ट्रम्प के इस बयान पर तुरंत ही यहूदी संस्थाओं की ओर से कड़ी आपत्तियां सामने आईं और

झोपड़ी मे रहता था शहीद का परिवार  युवाओं ने 11 लाख इकठ्ठा कर बना दिया बंगला कल शहीद की पत्नी को  करेंगे गिफ्ट

झोपड़ी मे रहता था शहीद का परिवार  युवाओं ने 11 लाख इकठ्ठा कर बना दिया बंगला कल शहीद की पत्नी को  करेंगे गिफ्ट इंदौर शहर के आसपास के ग्रामीण क्षेत्र के युवाओं ने ओम मिसाल पेश किया है जिसकी जितनी प्रशंसा की जाए कम है। सीमा सुरक्षा बल के जवान 27 वर्ष पहले शहीद हो गए थे। शहीद का परिवार झोपड़ी में गुजारा कर रहा था। जब युवाओं को पता

तेहरान-मास्को के बीच सैन्य सहयोग का समझौता, सहयोग में महत्वपूर्ण मोड़

इस्लामी गणतंत्र ईरान की नौसेना के कमान्डर एडमिरल हुसैन ख़ानज़ादी ने ईरान और रूस के बीच सैन्य सहयोग के समझौते पर हस्ताक्षर की सूचना दी है। ईरानी नौसेना के कमान्डर एडमिरल हुसैन ख़ानज़ादी ने जो इन दिनों सेन्टपीटर्ज़बर्ग के दौरे पर हैं, सोमवार को इर्ना से बात करते हुए अपनी रूस यात्रा की उपलब्धियों के बारे में कहा कि ईरान की सशस्त्र सेना के नेतृत्व में ईरान के आर्मी स्टाफ़

आले सऊद के ख़िलाफ़ गवाही दूंगाः 9/11 का मास्टर माइंड

अमरीका में 11 सितम्बर के आतंकी हमलों के मास्टर माइंड ने कहा है कि अगर अमरीकी सरकार उसे मृत्यु दंड न दे तो वह सऊदी अधिकारियों के ख़िलाफ़ गवाही देने के लिए तैयार है। अलजज़ीरा टीवी की रिपोर्ट के अनुसार ख़ालिद शैख़ मुहम्मद ने, जिसे नाइन इलेवन के हमलों का मास्टर माइंड कहा जाता है, कहा है कि अगर अमरीका की सरकार उसके मृत्युदंड को रद्द करते तो वह इस घटना

क्या सच में सऊदी अरब ने ईरान के सामने हाथ खड़े कर दिए हैं?

क्या सच में सऊदी अरब ने ईरान के सामने हाथ खड़े कर दिए हैं? हालिया हफ़्तों में कुछ इस प्रकार के चिन्ह दिखाई दिए हैं कि सऊदी अरब ईरान के संबंध में अपना रवैया बदलना और उसके साथ तनाव कम करना चाहता है। सऊदी अरब ईरान के संबंध में अपने रुख़ में परिवर्तन के जो सिग्नल भेज रहा है उन पर उसी स्थिति में विश्वास किया जा सकता है जब

ईरानी जहाज को बंधक बनाते समय ब्रिटिश सैनिकों ने की थी क्रूरता

  ईरानी जहाज के भारतीय कप्तान ने कहा कि ब्रिटिश सैनिकों ने जब ईरानी जहाज को बंधक बनाया तब उन्होंने हमारे साथ बहुत ही बर्बर व्यवहार किया था। हिंदुस्तान के अनुसार भारतीय कप्तान ने नाम न जाहिर करने की शर्त पर ‘बीबीसी’ को बताया कि हेलीकॉप्टर से जहाज पर उतरते ही ब्रिटिश अधिकारियों ने बंदूक का भय दिखाकर उनके निहत्थे चालक दल के सदस्यों को जहाज के डेक पर घुटनों

फ़ार्स की खाड़ी में आईआरजीसी के सोचे-समझे क़दम

  फ़ार्स की खाड़ी में आईआरजीसी के सोचे-समझे क़दम ईरान का आईआरजीसी सैन्य समाधान पर बहुत सीमित ढंग से, सोच-समझ कर और बड़ी सटीकता से अमल कर रहा है और इसी के चलते अमरीकी ड्रोन मार गिराया गया और ब्रिटेन के तेल टैंकर को रोका गया। अरबी समाचारपत्र रायुल यौम के प्रधान संपादक अब्दुल बारी अतवान ने लिखा है कि इस सप्ताह दो बड़े अहम दौरे हुए हैं जो ईरान

इस्राईली शासन के पास टू-स्टेट समाधान या डेमोग्रेफ़िक मौत के बीच किसी एक को चुनने के सिवा कोई चारा नहीं, मोहम्मद अश्तिया

इस्राईली शासन के पास टू-स्टेट समाधान या डेमोग्रेफ़िक मौत के बीच किसी एक को चुनने के सिवा कोई चारा नहीं, मोहम्मद अश्तिया   स्वशासित फ़िलिस्तीन के प्रधान मंत्री मोहम्मद अश्तिया ने कहा है कि इस्राईली शासन अगर टू-स्टेट समाधान का समर्थन नहीं करता है तो उसकी डेमोग्रेफ़िक मौत हो जाएगी। उन्होंने मंगलवार को रामल्ला में सोशलिस्ट इंटरनैश्नल ऑर्गनाइज़ेशन की बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि इस समय इस्राईल के

जर्मनी ने कहा है कि उसने फ़ार्स की खाड़ी में अमरीका के सैन्य गठबंधन के प्रस्ताव को रद्द कर दिया है।

  जर्मनी ने कहा है कि उसने फ़ार्स की खाड़ी में अमरीका के सैन्य गठबंधन के प्रस्ताव को रद्द कर दिया है। अमरीका यह गठबंधन फ़ार्स की खाड़ी में उस चीज़ से मुक़ाबले के लिए तय्यार करना चाहता है जिसे वह ईरान की ओर से ख़तरे का नाम देता है। रूसी न्यूज़ एजेंसी स्पतूनिक के अनुसार, मंगलवार को जर्मन विदेश मंत्री के बयान में आया हैः “अमरीका ने अभी हाल